अनुपस्थित बच्चों के घर जाएंगे बेसिक शिक्षा के शिक्षक | updatemart

अनुपस्थित बच्चों के घर जाएंगे बेसिक शिक्षा के शिक्षक

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक तथा उच्च प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ रहे ऐसे विद्यार्थी जो पिछले 45 दिनों से विद्यालय नहीं गए हैं। ऐसे अनुपस्थित बच्चों को ड्रॉप आउट की श्रेणी में रखे जाने का प्रावधान किया गया है।

Basic shiksha

ऐसे बच्चों को चिन्हित कर इस स्कूल के प्रधानाध्यापक और शिक्षक बच्चों के घर जाएंगे और उनके माता-पिता को समझा-बुझाकर बच्चे का नामांकन दुबारा स्कूल में कराने की कोशिश करेंगे।

ऐसे अनुपस्थित बच्चे को "स्कूल हर दिन आए" अभियान के अंतर्गत विद्यालय में दोबारा नामांकन कराया जाएगा। ऐसे विद्यार्थियों का स्कूल में प्रवेश आउट ऑफ स्कूल बच्चों के साथ कराया जाएगा।

बेसिक शिक्षा सचिव ने दिए निर्देश

बेसिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि 6 वर्ष से अधिक और 14 वर्ष से कम उम्र के बालक बालिकाओं का प्राइमरी विद्यालय में नामांकन सुनिश्चित करें।


आसपास के इलाकों में भटक रहे ऐसे बालक जो 14 वर्ष से कम उम्र के हैं तथा कारखानों और फैक्ट्रियों में बाल मजदूर के रूप में कार्यरत बालकों का नामांकन प्राथमिक विद्यालय में करने का निर्देश जारी किया गया है। यह कार्य विद्यालय के शिक्षकों द्वारा कराया जाएगा।

छात्रों को किया जाएगा पुरस्कृत

इस कार्य के लिए शिक्षकों के अलावा स्कूल के अभिभावक शिक्षक संघ, और आसपास के प्रतिष्ठित लोगों की मदद ली जाएगी। ऐसे विद्यार्थियों को पुरस्कृत करने की भी योजना बनाई जा रही है जो नियमित रूप से विद्यालय आते हैं। 

बालकों को पुरस्कृत करने से दूसरे बालकों को भी इससे प्रेरणा मिलेगी तथा शिक्षा के प्रति उनकी भी रुचि जागृत होगी।

Post a Comment

0 Comments