[latest*] UPTET exam breaking news at updatemart primary ka master

UPTET exam breaking news update at updatemart primary ka master

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा में आपत्ति दर्ज कराने हेतु देने होंगे ₹500 रुपए प्रति प्रश्न।
उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा uptet exam में कुछ ऐसे प्रश्न थे जिसके एक से अधिक उत्तर थे तथा कुछ ऐसे भी प्रश्न थे जिनके उत्तर मैच ही नहीं कर रहे थे किसी भी ऑप्शन से, तो ऐसे में बहुत से संदिग्ध प्रश्न है जिनकी आपत्ति अभ्यर्थी दर्ज कराना चाहते हैं। पर सीटेट की तरह ही uptet exam में भी आपत्ति दर्ज कराने पर अब एक प्रश्न के ₹500 लगेंगे और अगर आपत्ति गलत पाई जाती है तो आपके ₹500 सरकार द्वारा जब्त कर लिए जाएंगे। लेकिन अगर आपने जो आपत्ति की है वह सही निकली तो आपकी ₹500 की रकम वापस भेज दी जाएगी।

Basic shiksha news in up today latest news in hindi

UPTET Blogger new update

अगर आप भी किसी प्रश्न पर आपत्ति दर्ज कराना चाहते हैं तो आपको 14 जनवरी तक का इंतजार करना पड़ेगा क्योंकि परीक्षा नियामक प्राधिकारी द्वारा 14 जनवरी को उत्तर कुंजी जारी होगी उसके बाद ही अभ्यर्थी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं।
UPTET exam new update updatemart primary ka master
UPTET exam में आपत्ति पर 500 रुपए

UPTET exam में अभ्यर्थियों से प्राप्त सभी आपत्तियों पर परीक्षा नियामक विचार करेगा और अगर आपकी आपत्तियां सही पाई जाती है तो एक संशोधित उत्तर कुंजी 27 जनवरी के बाद जारी की जा सकती है। उसके बाद 7 फरवरी को परीक्षा का परिणाम जारी किया जाएगा।

UPTET exam में विवादित प्रश्न

हिंदी विषय में 
चील स्त्रीलिंग है या पुलिंग इसी प्रकार सरसों भी विवाद का विषय बना हुआ है।

पर्यावरण विषय में 
1- थारू जनजाति उत्तर प्रदेश में निवास करती है या फिर उत्तराखंड में
कुछ किताब में उत्तर प्रदेश दिया हुआ है जबकि कुछ किताब में उत्तराखंड दिया हुआ है।

uptet परीक्षा में धोखाधड़ी के आरोप में shiksha mitra गिरफ्तार

2- लचीला संविधान किस देश का है भारत का या फिर अमेरिका का

3- भूमि में स्वतंत्र रूप से रहने वाला जीवाणु जिसमें नाइट्रोजन स्थिरीकरण की क्षमता होती है वह जीवाणु राइजोबियम है या फिर एजोटोबेक्टर

4- अनुच्छेद 356 का प्रयोग प्रथम बार कब और कहां हुआ था? इस प्रश्न में जितने भी विकल्प दिए हैं सभी गलत है क्योंकि इसका सही उत्तर पंजाब होगा।

डेढ़ लाख रुपए तय थी यूपीटेट पेपर लीक करने की कीमत

5- नगर निगम द्वारा कौन सा कर लगाया जाता है इसका भी उत्तर गलत दिया हुआ है।
जीएसटी लागू होने से पहले सभी कर नगर निगम द्वारा लगाए जाते थे लेकिन जीएसटी लागू होने के बाद नगर निगम द्वारा सिर्फ घर और जल पर ही कर लगाए जाते हैं।

इस प्रकार कुल विवादित प्रश्नों की संख्या 6 है। अब देखना यह होगा कि कोई विद्यार्थी इन प्रश्नों पर आपत्ति दर्ज करवाता है या नहीं और आपत्ति दर्ज करवाने के बाद परीक्षा नियामक इन पर कुछ एक्शन लेगा भी या नहीं।

चूंकि अभ्यर्थियों से UPTET परीक्षा में आपत्ति दर्ज कराने के लिए ₹500 वसूले जा रहे हैं इसलिए अगर आपत्ति गलत सिद्ध हुई तो उनके ₹500 जप्त कर लिए जाएंगे इसलिए आपत्ति दर्ज कराने से पहले अभ्यर्थियों को प्रश्न गलत होने का प्रमाण सिद्ध करना होगा।

Post a Comment

0 Comments