50 की उम्र में नियुक्ति पाने वाले शिक्षक होंगे जबरन रिटायर updatemart

50 की उम्र में नियुक्ति पाने वाले शिक्षक होंगे जबरन रिटायर

Updatemart- नियम को ताक पर रखकर उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों और कर्मचारियों की नियुक्ति की जांच होगी।
इस मामले की जांच के लिए स्क्रीनिंग कमेटी भी गठित कर दी गई है। 

Updatemart

वर्तमान राज्य सरकार का कहना है कि पिछली राज्य सरकार ने 50 वर्ष की उम्र वाले शिक्षकों और कर्मचारियों को नौकरी दी थी। अब इन शिक्षकों तथा कर्मचारियों को जांच के बाद रिटायर किया जाएगा।

गोरखपुर जिले में जांच शुरू

बेसिक शिक्षा विभाग की तरफ से आदेश मिलने के बाद स्क्रीनिंग कमेटी ने गोरखपुर जिले में जांच शुरू कर दी है। बेसिक शिक्षा विभाग के अनुसार वर्ष 20-12-2016 तक हुई उर्दू शिक्षक भर्ती, विशेष आरक्षित वर्ग और कर्मचारियों की नियुक्तियों में नियम तथा मानकों की अनदेखी की गई थी। 

अब सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को बेसिक शिक्षा अधिकारियों द्वारा इस मामले में आदेश जारी कर दिया गया है तथा ब्लॉक वर लिस्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। पहले 50 की उम्र पार कर चुके शिक्षकों को नोटिस दिया जाएगा। नोटिस देने के तीन महीने बाद रिटायरमेंट दे दी जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार के इस फैसले के बाद से शिक्षकों और कर्मचारियों में रोष का माहौल है। 

शिक्षकों तथा कर्मचारियों का तर्क

शिक्षकों तथा कर्मचारियों का तर्क है कि जब नौकरी से निकालना ही था तो नियुक्ति क्यों दी गई? सेवा नियमावली से भी इस प्रावधान को हटा दिया जाना चाहिए जिसमें अधिक उम्र के अभ्यर्थियों को नौकरी देने का प्रावधान किया गया है।


Post a Comment

0 Comments