शिक्षकों ने प्राथमिक स्कूल की सरकारी किताबें कबाड़ी को बेची updatemart

शिक्षकों ने प्राथमिक स्कूल की सरकारी किताबें कबाड़ी को बेची

Primary school

Updatemart - बेसिक शिक्षा परिषद में संचालित प्राथमिक स्कूलों के लिए आई पुस्तकें कबाड़ी को मामूली रकम में बेचने की कोशिश की जा रही थी। किताबें बेचने का मामला तब उजागर हुआ जब कबाड़ी किताबों को लादने के लिए लोडर लेकर आ गया।

ग्रामीणों ने बनाया वीडियो

आसपास के मौजूद लोगों ने जब इसके संबंध में कबाड़ी से पूछा तो उसने कुछ भी बताने से मना कर दिया और संतोषजनक जवाब ना मिलने पर लोगों ने फोटो खींचना तथा वीडियो बनाना शुरू कर दिया।


कुछ लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को भी दे दी लेकिन पुलिस के आने से पहले ही कबाड़ी किताबों को छोड़कर लोडर गाड़ी लेकर भाग गया। पुलिस ने इसके संबंध में शिक्षकों से सवाल-जवाब किया तो शिक्षकों ने कुछ भी बताने से मना कर दिया।

मामला बीते दिनों मंगलवार शाम का है जहां एक कबाड़ी वाला लोडर में सरकारी पुस्तकें लाद रहा था। लोगों के पहुंचने के बाद उन्होंने फोटो और वीडियो बनाना शुरू कर दिया। सरकारी किताबें बेचे जाने की सूचना शाह चौकी पुलिस को मिली लेकिन पुलिस के आने से पहले ही कबाड़ी लोडर लेकर भाग गया।

शिक्षकों ने साधी चुप्पी

विद्यालय परिसर में मौजूद शिक्षकों से पुलिस ने पूछताछ की पर कोई भी शिक्षक यह बताने को तैयार नहीं था कि यह किताबे किसने बेची और किसके कहने पर यह किताबें बेची जा रही थी। 


वहीं ग्रामीणों का कहना है कि अभी तक छात्रों को किताबे क्यों नहीं वितरित की गई और यदि वितरण के बाद शेष किताबें बची रह गई थी तो उन्हें क्यों नहीं वापस भेज दिया गया। 

प्रधानाध्यापक जगतपाल सिंह का कहना है कि वह विद्यालय बंद करके दोपहर के 3:00 बजे अपने घर चले गए थे, उसके बाद विद्यालय में क्या हुआ उन्हें इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। 

बीएसए को जानकारी नहीं मिली

पुलिस ने बेसिक शिक्षा अधिकारियों से भी इसके बारे में बात की लेकिन उनका भी कहना था कि अभी तक उनके पास किताबें बेचने को लेकर कोई भी सूचना प्राप्त नहीं हुई है।


Post a Comment

0 Comments